MSME Registration क्या है, कैसे करें, इसका लाभ, रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया –
msme registration online.

MSME Registration क्या है, कैसे करें, इसका लाभ, रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया –

MSME लोन के लिए ऑनलाइन एवं ऑफलाइन दोनों तरह से आवेदन किया जा सकता है. ऑनलाइन आवेदन के लिए msme.gov.in में जाकर आवेदन कर सकते है |

हर व्यक्ति में अपार क्षमता होती है और अगर वह आगे बढ़ना चाहे, तो वह किस मंजिल तक पहुंच जाएगा, इसका किसी को अंदाजा नहीं होता है। वर्तमान समय में ऐसे अनगिनत उदाहरण हैं, जिससे यह विश्वास हो जाता है कि छोटे से छोटा व्यक्ति, ऊंची से ऊंची मंजिल तक पहुंच सकता है।

इसमें आज की सरकारें भी लोगों का साथ देने के लिए विभिन्न प्रकार की पद्धतियां विकसित कर रही हैं। वैसे हम सभी जानते हैं कि सरकारी प्रोसेस इतना जटिल होता है कि कई बार लोग उस में उलझ कर रह जाते हैं।

कंपनी रजिस्ट्रेशन कराने से लेकर तमाम तरह के टैक्सेशन इत्यादि औपचारिकताओं से नया व्यक्ति तो घबरा ही जाता है। ऐसे में अपना व्यापार करते समय वह डरा रहता है कि कहीं कानूनी प्रक्रियाएं उसे जकड़ ना लें।

उसका यह डर गलत भी नहीं होता, क्योंकि तमाम निर्दोष लोग गवर्नमेंट फॉर्मेलिटीज में फंस जाते हैं, तो कई लोग डर कर दलालों के हाथ में मेहनत की गाढ़ी कमाई दे बैठते हैं।

एक देश का आर्थिक विकास न केवल अपने बड़े पैमाने पर उद्योगों और बहुराष्ट्रीय संगठनों पर निर्भर करता है, बल्कि इसके मध्यम स्तर के उद्योगों, लघु उद्योग और कुटीर उद्योगों पर भी निर्भर करता है। भारत जैसे विकासशील देश के लिए जिसकी अर्थव्यवस्था कृषि और संबंधित उद्योगों पर निर्भर है।

क्या है MSME-

देश में मौजूद सभी सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों को MSME कहते हैं। सूक्ष्म-लघु और मध्यम उद्यम (MSME) छोटे आकार की इकाइयां हैं, जो उनके निवेश के आकार के संदर्भ में परिभाषित हैं। वे अर्थव्यवस्था में उत्पादन, रोजगार निर्यात इत्यादि में महत्वपूर्ण योगदान दे रहे हैं।

MSME

MSME Registration के लाभ-

MSME Registration से होने वाले लाभ इस प्रकार हैं-

  • बैंकों से आसान वित्त उपलब्धता
  • सरकारी निविदाएं खरीदने में प्राथमिकता
  • प्रत्यक्ष कर कानून के तहत छूट
  • ISO प्रमाणन पर सब्सिडी
  • मूल्य वरीयता में वेटेज (उद्यम आधार पर भिन्न हो सकता है)
  • बैंकों से ब्याज दर में कमी
  • नि: शुल्क लागत सरकार निविदाओं
  • स्टाम्प ड्यूटी और ऑक्टोई लाभ
  • बिजली बिल में रियायत
  • निर्माण/उत्पादन क्षेत्र उद्यम के लिए आरक्षण नीतियां
  • आईएसओ प्रमाणन खर्च की प्रतिपूर्ति
  • उत्पाद शुल्क छूट योजना

MSME कितने तरहे के होते हैं

एमएसमई में दो तरह के उद्यम होते हैं…

  • पहला मैनुफैक्चरिंग उद्योग जिसमे नई वस्तुओं के निर्माण का काम किया जाता है।
  • दूसरा सेवा क्षेत्र होता है, इसमें सभी तरह की सेवाओं मुहैया कराने का काम किया जाता है, जैसे लोकल इंटरेनेट सेवा, या लोकल केबल ऑपरेटर सेवा

MSME में रजिस्ट्रेशन हेतु दस्तावेज

  • आवेदन करने वाले व्यक्ति का पैन कार्ड
  • पहचान पत्र, वोटर आईडी कार्ड, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस की फोटो कॉपी देनी अनिवार्य होगी।
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • आवेदक अगर किराए की जमीन पर बिजनेस कर रहा है तो रेंट एग्रीमेंट की कॉपी और अगर खुद की जमीन पर कारोबार कर रहा है तो जमीन के कागजात की कॉपी।
  • आवेदक का शपथ प्रमाण पत्र और एनओसी
  • आवेदन करने वाले व्यक्ति को दो गवाहों की भी जरूरत पड़ेगी।

एमएसएमई में ऑनलाइन कैसे करें रजिस्ट्रेशन

बिजनेस छोटा हो या बड़ा हो आपको उसे कानूनी रूप से चलाने के लिए उसका रजिस्ट्रेशन अनिवार्य है। आप अगर एमएसएमई बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो आप उसके लिए ऑनलाइन एप्‍ल‍िकेशन कर सकते हैं।

एमएसएमई रजिस्ट्रेशन के लिए आपको http://udyogaadhaar.gov.in/UA/UAM_Registration.aspx पर जाना है।

यहां आपको एक छोटा सा फॉर्म दिखाई देगा जिसमें आपको अपना आधार नंबर और अपना नाम लिखना है।

MSME Registration Official Website

इसके बाद जनरेट ओटीपी पर क्लिक करना है।

इसके बाद आपके आधार रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ओटीपी आएगा जिसे आपको फॉर्म में दर्ज करना है।

इसके बाद आपसे कुछ डीटेल जैसे पर्सनल डीटेल, आपके ब‍िजनेस की ड‍िटेल आदि पूछी जाएगी जिसे आपको सही-सही भरना है।

ऑफ़ लाइन पंजीकरण (MSME Registration Offline)

  • सबसे पहले जिस विभाग के लिए आप उद्योग शुरू कर रहे है, उसके साथ एक आवेदन पत्र में जो आपकी बुनियादी सूचना है उसे भरे, उसके बाद संबंधित दस्तावेज के साथ एमएसएमई ऑफिस में पंजीकृत करा लें.
  • आवेदन और दस्तावेज़ को जमा करने से पहले किसी विशेषज्ञ से सारे दस्तावेज को प्रमाणित करा ले, उसके बाद आवेदन को जमा कर दे, आप आवेदन को जिस भी जिले में अपना व्यवसाय शुरू कर रहे है वहां के जिला उद्योग केंद्र में जाकर जमा कर सकते है.
  • इसके बाद विभाग के द्वारा, आपके आवेदन को आपके दस्तावेज़ के साथ एमएसएमई रजिस्ट्रार के पास फाइल किया जायेगा, फिर विशेषज्ञ उसका सत्यापन करेंगे. सत्यापन के बाद आवेदन स्वीकृत हो जाने के बाद आपको एमएसएमई प्रमाण पत्र जारी कर दिया जायेगा और आपको कोरियर और इमेल के माध्यम से सूचित कर दिया जायेगा. 

FAQ

एमएसएमई लोन के लिए आवेदन कैसे करें?

एमएसएमई लोन के लिए ऑनलाइन एवं ऑफलाइन दोनों तरह से आवेदन किया जा सकता है. ऑनलाइन आवेदन के लिए msme.gov.in में जाकर आवेदन कर सकते है.

एमएसएमई लोन के लिए आवेदन कौन कर सकता है?

राज्य एवं सेंट्रल की कोई भी आर्गेनाइजेशन
इंडस्ट्री/एंटरप्राइज
यह लोन उसी कंपनी को मिल सकता है, जो कंपनी एक्ट के तहत रजिस्टर हो
जो आर्गेनाइजेशन कम से कम 3 से काम कर रही हो और उसका रिकॉर्ड अच्छा रहा हो
जिस कंपनी ने पिछले 3 साल में लगातार ऑडिट भरा हो

एमएसएमई लोन की लिमिट क्या है?

सूक्ष्म के लिए 1 करोड़, लघु के लिए 10 करोड़ एवं मध्यम के लिए 20 करोड़ लिमिट है.

एमएसएमई लोन के लाभ क्या है?

  • बैंक से लाभ,
  • राज्य सरकार द्वारा छूट,
  • कर लाभ,
  • कम इंटरेस्ट में लाभ

एमएसएमई के तहत लोन कितना मिलता है?

एमएसएमई लोन के तहत 1 करोड़ से 20 करोड़ तक का लाभ मिल सकता है.

एमएसएमई लोन लेने पर इंटरेस्ट रेट क्या है?

एमएसएमई लोन पर इंटरेस्ट रेट 8.30 – 6.25 के बीच है.

Suggest :

8+ Home Based Business Ideas with zero investment

आत्मनिर्भर भारत अभियान: ऑनलाइन आवेदन लाभ व पात्रता

MSME Registration In India : Procedure, Documents Required

Leave a Reply